ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों इंडो फार्म ट्रैक्टर , डिजिट्रैक ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

एलआईसी जीवन उमंग पॉलिसी: 45 रुपए के निवेश पर मिलेंगे 27 लाख रुपए

एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें

अस्वीकरण : एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

क्या है जीवन उमंग पॉलिसी (LIC Jeevan Umang Policy)

भारतीय जीवन बीमा निगम की ओर से इस पॉलिसी को शुरू किया गया है। यह एक एंडोमेंट पॉलिसी है जिसमें बीमा कवरेज के साथ बचत का लाभ भी मिलता है। इस पॉलिसी की खास बात ये हैं मैच्योरिटी की अवधि पूरी होने पर ग्राहक के खाते में हर साल एक निश्चित राशि आती है। इसके अलावा यदि पॉलिसी धारक की मृत्यु हो जाती है तब उसके नॉमिनी को एक मुश्त रकम दी जाती है। एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें यह पॉलिसी 100 साल तक का कवरेज प्रदान करती है।

एलआईसी की जीवन उमंग पॉलिसी में 90 दिन से लेकर 55 साल के लोग ले सकते हैं। इसमें हर माह एक निश्चित रकम निवेश करने पर आपको एक मुश्त काफी बड़ी रकम प्राप्त होती है।

जीवन उमंग पॉलिसी ( एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें Jeevan Umang Policy ) की क्या है विशेषताएं

ये भारतीय जीवन बीमा निगम की बेहतरी पॉलिसियों में से एक है। इस पॉलिसी की विशेषताएं इस प्रकार से हैं-

  • एलआईसी की ये पॉलिसी अन्य पॉलिसी से अलग है। यह एंडॉमेंट के साथ ही एक आजीवन बीमा योजना है।
  • इस पॉलिसी में प्रीमियम भुगतान अवधि के बाद बीमित रकम के 8 प्रतिशत का लाभ आपको आजीवन या 100 वर्ष की आयु तक प्राप्त होता है।
  • इस पॉलिसी के तहत सिंपल रिवर्सनरी बोनस के साथ-साथ फाइनल एडिसन बोनस का लाभ भी ग्राहक को दिया जाता है।
  • इस पॉलिसी में प्रीमियम, मृत्यु लाभ और परिपक्वता (मैचुरिटी) लाभ पर कर (Tax) में छूट का लाभ प्रदान किया जाता है। इसमें इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के तहत टैक्स पर भी छूट का लाभ मिलता है।

जीवन उमंग पॉलिसी के लाभ

एलआईसी (LIC) की जीवन उमंग पॉलिसी में कई लाभ प्रदान किए जाते हैं जो इस प्रकार से हैं-

पॉलिसी की मैचुरिटी (Policy Maturity) पर मिलने वाला लाभ

इस पॉलिसी लेने के बाद यदि आपकी उम्र 100 साल की हो जाती है तो पॉलिसी धारक को बीमित राशि के साथ सिंपल रिवर्सनरी बोनस, फाइनल एडिसन बोनस का भुगतान किया जाता है।

सर्वाइवल लाभ (Survival Benefit)

प्रीमियम भुगतान अवधि के पूर्ण होने के एक साल बाद से प्रत्येक साल पॉलिसीधारक को मूल बीमित राशि का 8% प्राप्त होना शुरू हो जाता है। यह राशि उसे हर साल तब तक प्राप्त होती रहेगी जब तक वह 100 वर्ष की आयु तक नहीं पहुंच जाता है अथवा उसकी मृत्यु नहीं हो जाती है। इसमें से जो भी पहले हो, तब तक उसे ये लाभ मिलता रहता है।

पॉलिसी धारक की मृत्यु होने पर मिलने वाला लाभ

इस पॉलिसी के तहत यदि पॉलिसीधारक की मृत्यु "जोखिम प्रारंभ तिथि" से पहले होती है तो भुगतान किए गए सभी प्रीमियम की राशि नॉमिनी (नामांकित व्यक्ति) को वापस एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें कर दी जाती है। यदि पॉलिसीधारक की मृत्यु "जोखिम प्रारंभ तिथि" के बाद होती है तो एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें नॉमिनी (नामांकित व्यक्ति) को मृत्यु पर मिलने वाले बीमित रकम का भुगतान किया जाता है।

शादीशुदा लोगों के लिए केंद्र की शानदार स्कीम, सरकार देगी 10,000 रुपये महीना पेंशन! जानें- क्या है योजना और कैसे लें लाभ?

Updated: May 23, 2022 4:00 PM IST

atal pension yojana

Atal Pension Yojana: अपने रिटायरमेंट को सुरक्षित करने के लिए किसी सुरक्षित जगह पर निवेश करने की योजना बना एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें रहे हैं, तो अटल पेंशन योजना एक बेहतर विकल्प हो सकता है. आज हम आपको सरकार की अटल पेंशन योजना (APY) के बारे में बता रहे हैं, जिसमें पति-पत्नी अलग-अलग खाते खोलकर हर महीने 10,000 रुपये की पेंशन प्राप्त कर सकते हैं. साथ ही, इस योजना के और भी कई फायदे हैं.

Also Read:

अटल पेंशन योजना क्या है?

अटल पेंशन योजना एक ऐसी सरकारी योजना है, जिसमें आपके द्वारा किया गया निवेश आपकी उम्र पर निर्भर करता है. इस योजना के तहत, आप न्यूनतम मासिक पेंशन 1,000 रुपये, 2000 रुपये, 3000 रुपये, 4000 रुपये और अधिकतम 5,000 रुपये प्राप्त कर सकते हैं. यह एक सुरक्षित निवेश है.

कौन कर सकता है निवेश?

अटल पेंशन योजना की शुरुआत साल 2015 में हुई थी. हालांकि, तब इसे असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों के लिए शुरू किया गया था, लेकिन अब 18 से 40 साल का कोई भी भारतीय नागरिक इस योजना में निवेश कर सकता है. इस योजना में जमाकर्ताओं को 60 साल बाद पेंशन मिलने लगती है.

इस योजना के लाभ क्या हैं?

  • इस योजना के तहत 18 से 40 वर्ष के लोग अटल पेंशन योजना में अपना नामांकन करा सकते हैं.
  • इसके लिए आवेदक का किसी बैंक या डाकघर में बचत खाता होना चाहिए.
  • आपके पास केवल एक ही अटल पेंशन खाता हो सकता है.
  • आप इस योजना के तहत जितनी जल्दी निवेश करेंगे, आपको उतना ही अधिक लाभ मिलेगा.
  • अगर कोई व्यक्ति 18 साल की उम्र में अटल पेंशन योजना में शामिल होता है, तो 60 साल की उम्र के बाद उसे हर महीने 5000 रुपये मासिक पेंशन के लिए सिर्फ 210 रुपये प्रति माह जमा करना होगा.
  • इस तरह यह प्लान एक अच्छा प्रॉफिट प्लान है.

मछली पालन लोन योजना | Machli Palan Loan Yojana ऑनलाइन आवेदन|आवेदन फॉर्म

मछली पालन योजना व्यवसाय द्वारा भारत में काफी लाभ कमाया जा सकता है | क्योंकि भारत में करीब 60% आबादी मछली खाना पसंद करते हैं | Machli Palan Loan Yojana व्यवसाय को अंग्रेजी में फिश फार्मिंग कहते हैं | आज जनसंख्या वृद्धि के अनुपात में खाद्यान्नों के उत्पादन में वृद्धि नहीं हो पा रही है | दूध घी की कमी के कारण हमारे भोजन में मछली की उपयोगिता बढ़ी एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें है | आधुनिक शोधों से यह सिद्ध हुआ है | कि अन्य प्रकार के मांसाहारी भोजन में से मछली खाना दिल की बीमारी को काफी कम करता है | क्योंकि यह खून में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करती है | मछली में 14 से 25% तक प्रोटीन पाया जाता है | इसके अतिरिक्त कार्बोहाइड्रेट खनिज लवण कैल्शियम फास्फोरस लोहा आदि तत्व मछली में एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें होते हैं |

मछली पालन लोन योजना | Machli Palan Loan Yojana ऑनलाइन आवेदन|आवेदन फॉर्म

ध्यान के 3 आध्यात्मिक लाभ

ध्यान का कोई धर्म नहीं है और किसी भी विचारधारा को मानने वाले इसका अभ्यास कर सकते हैं।

  1. मैं कुछ हूँ इस भाव को अनंत में प्रयास रहित तरीके से समाहित कर देना और स्वयं को अनंत ब्रह्मांड का अविभाज्य पात्र समझना।
  2. ध्यान की अवस्था में आप प्रसन्नता, शांति व अनंत के विस्तार में होते हैं और यही गुण पर्यावरण को प्रदान करते हैं, इस प्रकार आप सृष्टी से सामंजस्य में स्थापित हो जाते हैं।
  3. ध्यान आप में सत्यतापूर्वक वैयक्तिक परिवर्तन ला सकता है। क्रमशः आप अपने बारे में जितना ज्यादा जानते जायेंगे, प्राकृतिक रूप से आप स्वयं को ज्यादा खोज पाएंगे।

ध्यान के लाभ कैसे प्राप्त करें

ध्यान के लाभों को महसूस करने के लिए नियमित अभ्यास आवश्यक है। प्रतिदिन यह कुछ ही समय लेता है। प्रतिदिन की दिनचर्या में एक बार आत्मसात कर लेने पर ध्यान दिन का सर्वश्रेष्ठ अंश बन जाता है। ध्यान एक बीज की तरह है। जब आप बीज को प्यार से विकसित करते हैं तो वह उतना ही खिलता जाता है.

प्रतिदिन, सभी क्षेत्रों के व्यस्त व्यक्ति आभार पूर्वक अपने कार्यों को रोकते हैं और ध्यान के ताज़गी भरे क्षणों का आनंद लेते हैं। अपनी अनंत गहराइयों में जाएँ और जीवन को समृद्ध बनाएं।

छात्रों हेतु ध्यान के 5 लाभ

  1. आत्मविश्वास में वृद्धि
  2. अधिक केन्द्रित व स्पष्ट मन
  3. बेहतर स्वास्थ्य
  4. बेहतर मानसिक शक्ति व ऊर्जा
  5. अधिक गतिशीलता

ध्यान कब और कैसे करना चाहिए?

ध्यान के लाभों को महसूस करने के लिए नियमित अभ्यास आवश्यक है। प्रतिदिन यह कुछ ही समय लेता है। प्रतिदिन की दिनचर्या में एक बार आत्मसात कर लेने पर ध्यान दिन का सर्वश्रेष्ठ अंश बन जाता है। ध्यान एक बीज की तरह है। जब आप बीज को प्यार से विकसित करते हैं तो वह उतना ही खिलता जाता है.

मेडिटेशन कितने मिनट करना चाहिए?

दिन में २ बार २० मिनट का ध्यान पर्याप्त है।

ध्यान का हमारे जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है?

ध्यान के कारण शरीर की आतंरिक क्रियाओं में विशेष परिवर्तन होते हैं और शरीर की प्रत्येक कोशिका प्राणतत्व (ऊर्जा) से भर एक अच्छा लाभ कैसे प्राप्त करें जाती है। शरीर में प्राणतत्व के बढ़ने से प्रसन्नता, शांति और उत्साह का संचार भी बढ़ जाता है।

रेटिंग: 4.26
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 832