image

मूलभूत विश्लेषण कैसे करें

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त मूलभूत विश्लेषण कैसे करें या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय मूलभूत विश्लेषण कैसे करें प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to hear मूलभूत विश्लेषण कैसे करें from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल

प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल स्वास्थ्य और कल्याण का एक पूरे समाज का दृष्टिकोण है, जो व्यक्तियों, परिवारों और समुदायों की आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं पर आधारित है। यह स्वास्थ्य के अधिक व्यापक निर्धारकों को संबोधित करता है और शारीरिक, मानसिक और सामाजिक स्वास्थ्य और कल्याण के व्यापक और आपस में संबंधित पहलुओं पर केंद्रित है।

वह पूरे जीवन में स्वास्थ्य आवश्यकताओं के लिए पूरे की देखभाल मुहैया कराता है और न केवल विशिष्ट रोगों के लिए। प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल करता है कि लोगों को व्यापक देखभाल मिले, जिसमें प्रमोशन और निवारण सेउपचार, पुनर्वसन और पीड़ाहारक देखभाल शामिल है, जो लोगों के दैनिक पर्यावरण के लिए अधिक से अधिक योग्य हो।

प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल का मूल न्याय और समानता के प्रति वचनबद्धता और स्वास्थ्य के उच्चतम प्राप्य मानक के मूलभूत अधिकार की मान्यता में है, जैसे कि मानव अधिकारों पर वैश्विक घोषणा की धारा २५ में बताया गया हैः “हर किसी को उसके और उसके परिवार के लिए पर्याप्त जीवनमान का अधिकार है, जिसमें अन्न, वस्त्र, आवास और वैद्यकीय देखभाल तथा आवश्यक सामाजिक सेवायें शामिल हैं […]”

प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल को बारबार अर्थाकलन तथा परिभाषा की गई है। कुछ संदर्भों में, उसे एंबुलेंस अथवा व्यक्तिगत स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं के प्रथम स्तर को कराने का अर्थ दिया गया है। अन्य संदर्भों में, प्राथमिक स्वास्थ्यदेखभाल को कम आय की जनसंख्याओं के लिए प्राथमिकतापूर्ण स्वास्थ्य हस्तक्षेपों के संच के रूप में समझा गया है (जिसे चुनिंदा प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल भी कहते हैं)। अन्यों ने आर्थिक, सामाजिक तथा राजनैतिक पहलुओं पर ध्यान देते हुए प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल को मानवीय विकास का एक महत्त्वपूर्ण घटक समझा है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन मूलभूत विश्लेषण कैसे करें ने तीन घटकों पर आधारित एक व्यापक परिभाषा विकसित की है।

  • पूरे जीवन में व्यापक बढ़ावा देने वाली, सुरक्षात्मक, निवारक, उपचारात्मक, पुनर्वसनसंबंधी और पीड़ाहारक देखभाल के माध्यम से लोगों की स्वास्थ्य आवश्यकताओं की पूर्ति करना, समेकित स्वास्थ्य सेवाओं के केंद्रीय घटकों के रूप में रणनीति की दृष्टि से प्राथमिक देखभाल के माध्यम से और परिवारों पर लक्षित महत्त्वपूर्ण स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं और जनसंख्या पर सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यों के माध्यम से प्राथमिकता देना ।
  • सभी क्षेत्रों में प्रमाण सूचित सार्वजनिक नीतियों और कार्यों के माध्यम से स्वास्थ्य के व्यापक निर्धारकों को व्यवस्थित रूप से संबोधित करना (जिसमें सामाजिक, आर्थिक, पर्यावरणीय के साथ ही लोगों की विशेषतायें और व्यवहार); तथा
  • स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा देने वाली और सुरक्षा देने वाली नीतियों की वकालत के रूप में, स्वास्थ्य और सामाजिक सेवाओं के सहविकासकों के रूप में और अन्यों को स्वयं देखभाल करने और देखभाल देने वालों के रूप में स्वास्थ्य मूलभूत विश्लेषण कैसे करें को महत्तम करने के लिए व्यक्तियों, परिवारों और समुदायों का सशक्तीकरण करना

प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल महत्त्वपूर्ण क्यों है?

प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल का नूतनीकरण करना और उसे प्रयासों के केंद्र में रखकर स्वास्थ्य और कल्याण को सुधारना तीन कारणों से महत्त्वपूर्ण हैः

  • प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल तेज़ी से आर्थिक, प्रौद्योगिकीय और जनसंख्या परिवर्तनों को प्रतिक्रिया देने के लिए सुस्थित है, जिनमें सभी स्वास्थ्य और कल्याण पर प्रभाव डालते हैं। हाल के विश्लेषण से पता चला है कि १९९० से २०१० में बाल मृत्युदर को कम करने के लगभग आधे लाभ स्वास्थ्य क्षेत्र के बाहर के घटकों के कारण थे (जैसे कि पानी और स्वच्छता, शिक्षा, आर्थिक विकास)। प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल दृष्टिकोण हित संबंधितों की व्यापक परिधि को आकर्षित कर स्वास्थ्य और कल्याण के सामाजिक, आर्थिक, पर्यावरणीय और व्यावसायिक निर्धारकों को संबोधित करने के लिए नीतियों की परीक्षा और बदलाव लाता है। अपने स्वयं के स्वास्थ्य और कल्याण के उत्पादन में महत्वपूर्ण कार्यकारकों के रूप में लोगों और समुदायों से व्यवहार करना हमारे बदलते विश्व की जटिलताओं को समझने और प्रतिक्रिया देने के लिए महत्त्वपूर्ण है।
  • प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल स्वास्थ्य और कल्याण के आज के प्रमुख कारणों और खतरों को संबोधित करने के लिए, साथ ही आने वाले समय मेंस्वास्थ्य और कल्याण को खतरे में डालने वाले उभरती चुनौतियों को संभालने के लिए अति प्रभावी और कार्यक्षम पद्धति सिद्ध हुई है। वह एक अच्छे मूल्यवान निवेश भी सिद्ध हुआ है, क्योंकि ऐसा प्रमाण है कि मूलभूत विश्लेषण कैसे करें गुणवत्तावान प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल अस्पताल में भर्ती होना कमी करने के द्वारा कुल स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं को कम करती और कार्यक्षमता को बढ़ाती है। बढ़ती जटिल स्वास्थ्य समस्याओं को संबोधित करने के लिए एक बहुक्षेत्रीय दृष्टिकोण की आवश्यकता है, जो स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाली और निवारक नीतियों का समेकन करता है, वह समाधान जो समुदायों को प्रतिक्रिया देते हैं और स्वास्थ्य सेवायें जो जनकेंद्रित होती हैं। प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल में महत्वपूर्ण घटक शामिल होते हैं, जो स्वास्थ्य सुरक्षा को सुधारने और महामारियों व सूक्ष्म जीवरोधी प्रतिरोध जैसे स्वास्थ्य खतरों के निवारण में आवश्यक हैं, जो सामुदायिक सहभाग तथा शिक्षा, विवेकपूर्ण निर्धारण, और आवश्यक सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यवाहियों जैसे कि पर्यवेक्षण के माध्यम से होगा। सामुदायिक और पेरिफ़ेरल स्वास्थ्य सुविधा स्तर पर प्रणालियों को करने से निरंतरता बनाने में योगदान मिलता है, जो स्वास्थ्य प्रणाली के झटके झेलने के लिए महत्त्वपूर्ण है।
  • अधिक शक्तिशाली प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल चिरस्थायी विकास ध्येयों और वैश्विक स्वास्थ्य कवरेज को प्राप्त करने के लिए महत्त्वपूर्ण है। वह स्वास्थ्य ध्येय(एसडीजी३) के परे अन्य ध्येयों की उपलब्धि में योगदान देगा, जिसमें गरीबी, भूख, लैंगिक समानता, स्वच्छ पानी और सुरक्षा, कार्य तथा आर्थिक विकास, असमानता और जलवायु कार्य कम करना शामिल है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रतिक्रिया

विश्व स्वास्थ्य संगठन सभी के लिए स्वास्थ्य और कल्याण को प्राप्त करने की प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल की केंद्रीय भूमिका को पहचानता है। डब्ल्यूएचओ अन्य देशों के साथ इस कारण से काम करता हैः

म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें?

बस कुछ ही मिनटों में म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करें

बजाज फाइनेंस ने एक ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है - बजाज फिनसर्व ऐप, जहां आप कुछ ही क्लिक के साथ डायरेक्ट म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं.

Android यूज़र ऐप डाउनलोड कर सकते हैं और नीचे दिए गए चरणों का पालन करके अपना म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट शुरू कर सकते मूलभूत विश्लेषण कैसे करें मूलभूत विश्लेषण कैसे करें हैं:

  1. 1 'ऐप प्राप्त करें' पर क्लिक करें’
  2. 2 अपने मोबाइल नंबर का उपयोग करके लॉग-इन करें
  3. 3 'इन्वेस्टमेंट बाजार' विजेट से 'म्यूचुअल फंड' आइकन पर क्लिक करें
  4. 4 अपना मूल विवरण जैसे पैन नंबर, बैंक अकाउंट का विवरण आदि दर्ज करें और मात्र 5 मिनट में इन्वेस्टमेंट के लिए तैयार हो जाएं
  5. 5 वे फंड चुनें जिनमें आप इन्वेस्ट करना चाहते हैं और नेट बैंकिंग या यूपीआई के माध्यम से भुगतान करके अपना पहला इन्वेस्टमेंट करें

आपको बजाज फाइनेंस के माध्यम से म्यूचुअल मूलभूत विश्लेषण कैसे करें फंड में इन्वेस्ट क्यों करना चाहिए

बजाज फाइनेंस के साथ म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करने के कुछ कारण इस प्रकार हैं.

  • आप एक ही प्लेटफॉर्म पर सभी एसेट मैनेजमेंट कंपनियों (एएमसी) के म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं
  • हम एक पेपरलेस और तेज़ ऑनलाइन अकाउंट खोलने की प्रक्रिया प्रदान करते हैं
  • 0% एजेंट/डिस्ट्रीब्यूटर कमीशन के चलते आप ज़्यादा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं
  • अकाउंट खोलने पर कोई शुल्क नहीं लिया जाता
  • आप हमारी मोबाइल ऐप के साथ आसानी से इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं और अपने पोर्टफोलियो को ट्रैक कर सकते हैं
  • अपने सभी म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो को एक ही जगह पर देखें और ट्रैक करें

एमएफ संबंधी सामान्य प्रश्न

डिस्क्लेमर

म्यूचुअल फंड निवेश बाज़ार जोखिमों के अधीन हैं; स्कीम से संबंधित सभी डॉक्यूमेंट ध्यान से पढ़ें.

बजाज फाइनेंस लिमिटेड ('बीएफएल') आरबीआई के साथ डिपॉजिट स्वीकार करने वाले नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल संस्थान के रूप में रजिस्टर्ड है, और एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया ("एएमएफआई") के साथ थर्ड पार्टी म्यूचुअल फंड (जिसे संक्षेप में 'म्यूचुअल फंड' कहा जाता है) के डिस्ट्रीब्यूटर के रूप में रजिस्टर्ड है.

डायरेक्ट म्यूचुअल फंड में इन्वेस्टमेंट करने में रुचि रखने वाले कस्टमर बजाज फिनसर्व डायरेक्ट लिमिटेड ("बीएफडीएल") के माध्यम से अपना इन्वेस्टमेंट करने पर विचार कर सकते हैं, जो बजाज फिनसर्व लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है और यह रजिस्ट्रेशन नंबर आईएनए000016083 के साथ इन्वेस्टमेंट एडवाइज़र के रूप में सेबी के साथ रजिस्टर्ड है. बीएफडीएल प्लेटफॉर्म पर म्यूचुअल फंड केवल निवासी भारतीयों के लिए उपलब्ध हैं और ये भारत के क्षेत्रीय अधिकार क्षेत्र के बाहर रहने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए उपलब्ध नहीं हैं. यहां पर यह भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि बीएफएल केवल संभावित कस्टमर को रेफर मूलभूत विश्लेषण कैसे करें कर रहा है जो बीएफडीएल की डायरेक्ट म्यूचुअल फंड स्कीम में इन्वेस्ट करने में रुचि ले सकते हैं, इस मामले में बीएफएल स्वयं को सभी जोखिम और जिम्मेदारियों से मुक्त रखता है.

बीएफएल किसी भी तरीके से या किसी भी रूप में इन्वेस्टमेंट सलाहकार सर्विसेज़ प्रदान नहीं करता है. बीएफएल इन्वेस्टर की जोखिम प्रोफाइलिंग नहीं करता है और किसी भी म्यूचुअल फंड स्कीम या अन्य इन्वेस्टमेंट के लिए स्वतंत्र रिसर्च या विश्लेषण नहीं करता है. बीएफएल द्वारा कोई कस्टमाइज़्ड/पर्सनलाइज्ड उपयुक्तता मूल्यांकन नहीं किया जाता है. इसके अलावा, बीएफएल इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न की कोई गारंटी नहीं देता है. इसलिए, इन्वेस्टमेंट पर अंतिम निर्णय पूरी तरह से और हर समय केवल इन्वेस्टर का ही होगा और बीएफएल इसके किसी भी परिणाम के लिए उत्तरदायी नहीं होगा न ही उत्तरदायी ठहराया जा सकेगा.

Acidic and Basic radical test: लवण विश्लेषण :Write in this way

Salt analysis (Acidic and Basic radical test) is done to find out acidic and basic radicals present in it. Salt analysis is a qualitative analysis. लवण विश्लेषण द्वारा यह ज्ञात किया जाता है कि दिए गए लवण के नमूने में कौन सा धनायन (Cation) तथा कौन सा ऋणायन (Anion) मूलभूत विश्लेषण कैसे करें उपस्थित है | लवण की थोड़ी सी मात्रा को परखनली में लेकर विभिन्न अभिकर्मक मिलाकर परीक्षण किया जाता है तो उसमे उत्पन्न गैस का रंग , गंध , तीक्ष्णता या विलयन का रंग , अवक्षेप (precipitate), अवक्षेप की घुलनशीलता आदि प्रेक्षणों से कुछ निष्कर्ष निकलता है जिससे लवण में उपस्थित अम्लीय मूलक (Anion) अथवा क्षारीय मूलक(Cation) का पता चल जाता है I लवण विश्लेषण को गुणात्मक विश्लेषण (Qualitative Analysis) भी कहते है I

प्रयोग संख्या – 03

उद्देश्य :- दिए गए लवण (मिश्रण ) में एक अम्लीय मूलक तथा एक क्षारीय मूलक की पहचान कीजिये I

आवश्यक उपकरण :-टेस्ट ट्यूब,फ़िल्टर पेपर ,बर्नर, स्प्रिट लैम्प , टेस्ट ट्यूब होल्डर ,अभिकर्मक इत्यादि I

प्रेक्षण तालिका :- अम्लीय मूलक की पहचान करना –

क्र0सं0 प्रयोग प्रेक्षण निष्कर्ष
1मिश्रण +तनु H2SO4 (ठन्डे में)
थोड़ा सा गर्म करने पर
कोई क्रिया नहींप्रथम समूह अनुपस्थित
2(i) मिश्रण + सांद्र H2SO4 थोड़ा सा गर्म करने परतीक्ष्ण गंधयुक्त गैसद्वितीय समूह संभव
(ii) परखनली के मुख पर NH4OH से भीगी छड़ लाने परसफ़ेद धुआं निकलता हैCl – निश्चित
(iii)मिश्रण + तनु HNO3 +AgNO3सफ़ेद अवक्षेप , NH4OH में विलेयCl – निश्चित

रासायनिक अभिक्रियाएं :-

प्रेक्षण तालिका :- क्षारीय मूलक की पहचान करना –

क्र0सं0 मूलभूत विश्लेषण कैसे करें प्रयोग प्रेक्षण निष्कर्ष
1 मिश्रण + NaOH
थोड़ा सा गर्म करने पर
अमोनिया की गंध
आती है
NH4 +
संभव
2परखनली के मुख पर
NH4OH से भीगी छड़
लाने पर
सफ़ेद धुआं
निकलता है
NH4 +
निश्चित

रासायनिक अभिक्रियाएं :-

परिणाम :- दिए गए लवण में उपस्थित एक अम्लीय मूलक तथा एक क्षारीय मूलक निम्न हैं –

(i) अम्लीय मूलक …. Cl – ( क्लोराइड आयन )

(ii) क्षारीय मूलक …… NH4 + ( अमोनियम आयन )

image

image

प्रयोग संख्या – 04

उद्देश्य :- दिए गए लवण (मिश्रण) में एक अम्लीय मूलक तथा एक क्षारीय मूलक की पहचान कीजिये I

आवश्यक उपकरण :-टेस्ट ट्यूब,फ़िल्टर पेपर ,बर्नर, स्प्रिट लैम्प , टेस्ट ट्यूब होल्डर ,अभिकर्मक इत्यादि I

प्रेक्षण तालिका :- अम्लीय मूलक की पहचान करना –

क्र0सं0 प्रयोग प्रेक्षण निष्कर्ष
1मिश्रण +तनु H2SO4
(ठन्डे में)
रंगहीन , गंधहीन गैस बुदबुदाहट के साथ निकलती हैCO3 – – संभव
2गैस को चूने के पानी में प्रवाहित करने परचूने का पानी दूधिया हो जाता हैCO3 – –
निश्चित

रासायनिक अभिक्रियाएं :-

(चूने का पानी)

प्रेक्षण तालिका :- क्षारीय मूलक की पहचान करना –

रासायनिक अभिक्रियाएं :-

परिणाम :- दिए गए लवण में उपस्थित एक अम्लीय मूलक तथा एक क्षारीय मूलक निम्न हैं –

रेटिंग: 4.60
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 87